Friday, December 9, 2022
Google search engine
HomeHindiक्रिप्टो सर्विसेज फर्म  Paxos को मिला सिंगापुर के रेगुलेटर से अप्रूवल

क्रिप्टो सर्विसेज फर्म  Paxos को मिला सिंगापुर के रेगुलेटर से अप्रूवल

खास बातें

  • Paxos को सिंगापुर में डिजिटल पेमेंट टोकन सर्विसेज का अप्रूवल मिला है
  • यह PayPal के क्रिप्टो सेगमेंट के लिए ब्रोकरेज सर्विस भी देती है
  • इसके पास बैंक ऑफ अमेरिका और क्रेडिट सुइस जैसे क्लाइंट्स हैं

स्टेबलकॉइन इश्यू करने के साथ ही  PayPal और  Meta जैसी कंपनियों को क्रिप्टो सर्विसेज उपलब्ध कराने वाले रेगुलेटेड ब्लॉकचेन इंफ्रास्ट्रक्चर प्लेटफॉर्म Paxos को सिंगापुर में डिजिटल पेमेंट टोकन सर्विसेज देने के लिए अप्रूवल मिल गया है. Paxos को मॉनेटरी अथॉरिटी ऑफ सिंगापुर, सेंट्रल बैंक और फाइनेंशियल रेगुलेटरी अथॉरिटी ऑफ सिंगापुर से अनुमति मिली है. इसके बाद यह क्रिप्टो ब्रोकरेज, स्टेबलकॉइन और कस्टडी सर्विसेज सिंगापुर के निवासियों और इस रीजन में एक्सपैंशन करने वाली क्लाइंट्स को दे सकेगी.

स्टेबलकॉइन सॉल्यूशन उपलब्ध कराने वाली Paxos के पास Paxos’ Pax Dollar (USDP) कहा जाने वाला अपना स्टेबलकॉइन है. इसके अलावा यह  Binance Dollar BUSD के लिए इंफ्रास्ट्रक्चर उपलब्ध कराती है, जो अभी तीसरा सबसे बड़ा स्टेबलकॉइन है. यह PayPal के क्रिप्टो सेगमेंट के लिए ब्रोकरेज सर्विस भी देती है. इसके पास एक एंटरप्राइज ब्लॉकचेन सेटलमेंट सर्विस है. इस सर्विस के क्लाइंट्स में बैंक ऑफ अमेरिका, क्रेडिट सुइस और इंस्टीनेट शामिल हैं. हालांकि, यह सर्विस केवल अमेरिका में दी जा रही है.

इसने अभी तक 54 करोड़ डॉलर (लगभग 4,140 करोड़ रुपये) की फंडिंग हासिल की है. इसके इनवेस्टर्स में  Oak HC/FT, डिक्लरेशन पार्टनर्स, फाउंडर्स फंड, मिथ्रिल कैपिटल और  PayPal Ventures वेंचर्स शामिल हैं. हाल के वर्षों में ब्लॉकचेन से जुड़ी सर्विसेज देने वाली फर्मों की संख्या तेजी से बढ़ी है. इसके साथ ही इनवेस्टर्स ने भी इन फर्मों में अपनी हिस्सेदारी बढ़ाई है.

इस बारे में Paxos Asia के को-फाउंडर और  CEO, Rich Teo ने बताया, “हमारा मानना है कि कस्टमर्स और फाइनेंशियल इंस्टीट्यूशंस को ब्लॉकचेन और डिजिटल एसेट्स के वास्तविक फायदों के लिए रेगुलेटरी निगरानी एकमात्र तरीका है. हम मॉनेटरी अथॉरिटी ऑफ सिंगापुर को हमारे रेगुलेटर के तौर पर देखकर खुस हैं. हम बड़ी एंटरप्राइसेज के लिए रेगुलेटेड सॉल्यूशंस देने के जरिे डिजिटल एसेट्स का इस्तेमाल बढ़ाने में सक्षम होंगे.”

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments