Tuesday, June 28, 2022
Google search engine
HomeHindi"हम इससे सीखेंगे": पांच राज्यों में कांग्रेस के खराब प्रदर्शन पर राहुल...

“हम इससे सीखेंगे”: पांच राज्यों में कांग्रेस के खराब प्रदर्शन पर राहुल गांधी 

राहुल गांधी ने कहा कि सभी कांग्रेस कार्यकर्ताओं और स्वयंसेवकों को उनकी कड़ी मेहनत और समर्पण के लिए धन्यवाद

नई दिल्ली:

उत्तर प्रदेश से गोवा तक के पांच राज्य के चुनावों में कांग्रेस खराब प्रदर्शन और पंजाब में सरकार जाने के बाद वरिष्ठ नेता राहुल गांधी के ने कहा कि पार्टी इन चुनाव परिणामों से सीखेगी. उन्होंने ट्वीटर पर लिखा, “विनम्रता से लोगों के फैसले को स्वीकार करें. जनादेश जीतने वालों को शुभकामनाएं. सभी कांग्रेस कार्यकर्ताओं और स्वयंसेवकों को उनकी कड़ी मेहनत और समर्पण के लिए धन्यवाद. हम इससे सीखेंगे और भारत के लोगों के हितों के लिए काम करते रहेंगे.”

यह भी पढ़ें

बता दें कि कांग्रेस को पंजाब में आम आदमी पार्टी (आप) से करारी हार का सामना करना पड़ा है. इसके अलावा पार्टी उन तीन राज्यों गोवा, उत्तराखंड और मणिपुर में भी हार गई जहां उसे कड़ी टक्कर या जीतने की उम्मीद थी.

वहीं कांग्रेस के रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि पांचों राज्यों में जीतने वाले सभी राजनीतिक दलों और व्यक्तियों को बहुत शुभकामनाएं. प्रजातंत्र में जनता का निर्णय सर्वोपरी है और यही हमारे लोकतंत्र की मज़बूती भी है. पांच राज्यों के चुनाव परिणाम कांग्रेस पार्टी की आशाओं के विपरीत रहे हैं. हम उत्तराखंड, गोवा और पंजाब में अच्छे परिणाम की अपेक्षा कर रहे थे, लेकिन हम ये स्वीकार करते हैं कि हम जनता का आशीर्वाद प्राप्त करने में असफल रहे.

उन्होंने कहा कि पंजाब में चरनजीत सिंह चन्नी के रूप में हमने एक विनम्र, स्वच्छ और धरातल से जुड़ा हुआ नया नेतृत्व देने का प्रयास किया, लेकिन अमरिंदर सरकार के साढ़े चार साल की सत्ता विरोधी लहर से नहीं उबर पाए. जनता ने बदलाव के लिए मतदान किया. हम जनता का आदेश स्वीकार करते हैं और पंजाब में जीत के लिए आम आदमी पार्टी को बधाई देते हैं.

सुरजेवाला ने कहा कि उत्तर प्रदेश में हम कांग्रेस को पुनर्जीवित करने में सफल रहे हैं. हम जनमत को सीटों में नहीं बदल पाए, लेकिन कांग्रेस पार्टी प्रदेश के हर गली-मोहल्ले तक पहुंचने में सफल रही है. हम उत्तराखंड व गोवा में बेहतर चुनाव तो लड़े पर जनता का मन जीत कर विजय के आंकड़े तक नहीं पहुंच पाये. ये एक सीख है कि हमें धरातल पर और मेहनत करने की आवश्यकता है.

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments